Sun, Sep 19, 2021
Updated 3:07 pm IST
Updated 3:07 pm IST
news
स्पेशल रिपोर्ट
Published on : Mar 29, 2020, 00:00 AM
By : Anirudh kumar

चीन का वुहान: जहां से शुरू हुआ कोरोना का कहर

पटना >>>>>>> वुहान शहर का नाम भले हीं चीन के बीजिंग या शंघाई जैसे शहरों के तौर पर नहीं लिया जाता है, लेकिन दुनिया के नक्शे पर अपना वजूद रखने वाले इस शहर का नाम कोरोना वायरस को लेकर पूरे विश्व में आज प्रचलित हो गया है। ऐसा नहीं है कि कोरोना के कारण हीं इस शहर का नाम उछला है, बल्कि सच्चाई यह है कि इस शहर का अपना वजूद है। यह चीन का एक ऐसा महानगर है, जो दुनिया के सभी हिस्सों से जुड़ा है। वुहान की आबादी फिलहाल 1 करोड़ 10 लाख है, हालांकि साल 2018 के संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों के मुताबिक़ इस शहर में 89 लाख लोग रहते हैं। 

 

 

एक आंकड़ो के मुताबिक वुहान दुनिया का 42वां और चीन का सबसे बड़ा शहर है। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि वुहान से निकला कोरोना वायरस आज 150 से ज्यादा देशों में कहर बरपा रही है। लाख के करीब लोगों की जानें चुकी है। इसे सीधे तौर पर यह कहा जा सकता है कि जब तक दुनिया समझती तब तक कई देशों में संक्रमण फैला गया। इसका तात्पर्य यह है कि इस शहर में दुनिया भर के लोग बड़ी तादाद में आते हैं। 

 

 

वुहान इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर साल 2016 में दो करोड़ यात्रियों की आमद की रिपोर्ट है। यहां से लंदन, पैरिस, दुबई और दुनिया के तमाम बड़े शहरों के लिए सीधी उड़ान सेवाएं हैं। 

 

 

यांग्त्ज़ी नदी के किनारे बसे इस शहर में हाईटेक मैन्युफ़ैक्चरिंग से लेकर पारंपरिक चीज़ों का निर्माण होता है। यहां कई औद्योगिक क्षेत्र हैं, उच्च शिक्षा के 52 संस्थान हैं। 

 

ऐसा दावा है कि चीन में सबसे ज़्यादा अंडरग्रैजुएट छात्र इसी शहर में पढ़ते हैं। यही नहीं दुनिया की 500 बड़ी कंपनियों में से 230 कंपनियों ने वुहान में निवेश कर रखा है। वुहान में निवेश करने वाले देशों में फ्रांस प्रमुख है। 

 

 

मालूम हो कि 1886 से 1943 के बीच जब वुहान हांकोउ के नाम से जाना जाता था, तब फ्रांस को यहां विशेष रियायत हासिल थी। फ्रांस की सौ कंपनियों ने वुहान में निवेश किया है। जिनमें कुछ ज्वॉयंट वेंचर्स भी हैं। वुहान में एक बहुत बड़ी पनबिजली परियोजना है। यहां दुनिया भर से सैलानी भी बहुत आते हैं। 

 

 

 

भले ही कोरोना वायरस इस शहर के स्थानीय सीफूड मार्केट से फैला लेकिन यहां आने-जाने वाले लोगों ने अनजाने में इस वायरस को फैलने का मौक़ा दे दिया। उदाहरण के लिए जिस अमरीकी शख़्स को कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया था, उसने हाल ही में वुहान की यात्रा की थी। कोरोना से संक्रमित होने वाले दोनों जापानी भी वुहान से होकर आए थे। कोरियाई मरीज़ तो वहीं रह रहा था।

INSIDE STORY
image

स्पेशल रिपोर्ट

चीन का वुहान: जहां से शुरू हुआ कोरोना का कहर

पटना >>>>>>> वुहान शहर का नाम भले हीं चीन के बीजिंग या शंघाई जैसे शहरों के तौर पर नहीं लिया जाता है, लेकिन दुनिया के नक्शे पर अपना वजूद रखने वाले इस शहर का नाम कोरोना वायरस को लेक

image

देश

आखिर क्यों जरूरी है लॉकडाउन बढाना?

पटना: कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग का ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन की थी। यह अवधि आगामी 14 अप्रैल को समाप्त हो रहा है। लोगों के मन एक सवाल उठ रहा है कि क्या 15 अप्रै

image

बिहार

बिहार में पूर्ण शराबबंदी ! सिर्फ एक ढकोसला.....

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भले हीं इस बात का डंका बजा रहे हों कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी है। शराब के मामले में कोई समझौता नहीं करेंगे। लेकिन स्थिति बद से बदतर है। शराब माफियाओं का दबदबा पूरे बिहार