Thu, Jun 24, 2021
Updated 5:12 pm IST
Updated 5:12 pm IST
news
देश
Published on : Apr 8, 2020, 00:00 AM
By : Anirudh kumar

आखिर क्यों जरूरी है लॉकडाउन बढाना?

पटना: कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग का ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन की थी। यह अवधि आगामी 14 अप्रैल को समाप्त हो रहा है। लोगों के मन एक सवाल उठ रहा है कि क्या 15 अप्रैल से देश फिर सामान्य हो जाएगा, यानी सबकुछ पहले जैसा हो जाएगा। लेकिन वर्तमान समय में जो संकेत मिल रहे हैं, उसके मुताबिक लॉकडाउन की अवधि में विस्तार लगभग तय मानी जा रही है। आशंका जाहिर की जा रही है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक बार फिर राष्ट्र को संबोधित करते हुए यह कहेंगे कि स्थिति को देखते हुए आगामी 30 अप्रैल तक लॉकडाउन जारी रहेगी। हालांकि फिलहाल यह सिर्फ अटकलें है।

हालांकि प्रधानमंत्री ने विगत तीन दिनों के अन्दर सभी राज्य के मुख्यमंत्री व देश भर के राजनीतिक दलों से बातचीत की। सभी से जो सुझाव पीएम मोदी को प्राप्त हुए हैं, उसके मुताबिक लॉकडाउन की अवधि विस्तार की जानी चाहिए। क्योंकि कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढती जा रही है। इतने दिनों के लॉकडाउन के बावजूद भी संक्रमित मरीजों की संख्या में कमी नहीं आ रही है। 

खबरों के मुताबिक विभिन्न राज्य सरकारों और विशेषज्ञों ने मोदी सरकार से लॉकडाउन बढ़ाने की अपील की है। राज्य सरकारों का भी मानना है कि कोरोना वायरस को और फैलने से रोकना है तो लॉकडाउन को बढ़ाना होगा। हालांकि केन्द्र इन सभी सुझावों पर गंभीरता से विचार कर रही है।  माना जा रहा है कि लॉकडाउन पर जल्द ही फैसला लिया जाएगा।

माना जा रहा हि कि मजदूरों के पलायन और तबलीगी जमात के कारण 21 दिनों के लॉकडाउन का वो फायदा नहीं मिल पाया, जो मिलना था। सरकार को उम्मीद थी कि कोरोना वायरस के केस डबल होने की दर भारत में 7 से 8 दिन रहेगी, लेकिन इन दो घटनाओं के कारण यह घटकर 4.1 रह गई है। ऐसे में लॉकडाउन बढ़ाना जरूरी हो गया है। 

हालांकि यदि दूसरे पक्षों की रिपोर्ट की बात करें तो उसके मुताबिक भारत में हालात काबू में हैं। ज्यादा से ज्यादा लोगों की जांच हो रही है। अब तक 62 जिलों की पहचान कर हॉट स्पॉट तय कर दिए गए हैं। संभव है कि पूरे देश में लॉकडाउन रखने के बजाए ऐसे स्थानों को पूरी तरह लॉकडाउन कर दिया जाए। बाकी देश को बारी-बारी से राहत दी जाए। यहां भीलवाडा का उदाहरण दिया जा रहा है।

मालूम हो कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर ने भी सिफारिश की है कि लॉकडाउन 2 जून तक बढ़ा दिया जाना चाहिए। इसी तरह उत्तर प्रदेश से भी लॉकडाउन बढ़ाने के संकेत मिले हैं। पीएम मोदी भी अपने एक संबोधन में कह चुके हैं कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई लंबी चलेगी।

गौरतलब है कि भारत में कोरोना वायरस के केस लगातार बढ़ रहे हैं और अब आंकड़ा 5000 पार कर गया है, लेकिन भारत की स्थिति बाकी देशों से अच्छी है। अमेरिका, इटली, जर्मनी और ईरान में जहां लगातार लोग मर रहे हैं, वहीं भारत में हालात काबू में बताए जा रहे हैं।

INSIDE STORY
image

स्पेशल रिपोर्ट

चीन का वुहान: जहां से शुरू हुआ कोरोना का कहर

पटना >>>>>>> वुहान शहर का नाम भले हीं चीन के बीजिंग या शंघाई जैसे शहरों के तौर पर नहीं लिया जाता है, लेकिन दुनिया के नक्शे पर अपना वजूद रखने वाले इस शहर का नाम कोरोना वायरस को लेक

image

देश

आखिर क्यों जरूरी है लॉकडाउन बढाना?

पटना: कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग का ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन की थी। यह अवधि आगामी 14 अप्रैल को समाप्त हो रहा है। लोगों के मन एक सवाल उठ रहा है कि क्या 15 अप्रै

image

बिहार

बिहार में पूर्ण शराबबंदी ! सिर्फ एक ढकोसला.....

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भले हीं इस बात का डंका बजा रहे हों कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी है। शराब के मामले में कोई समझौता नहीं करेंगे। लेकिन स्थिति बद से बदतर है। शराब माफियाओं का दबदबा पूरे बिहार