Thu, Jun 24, 2021
Updated 2:32 pm IST
Updated 2:32 pm IST

नया आइडिया नहीं देने पर नॉर्थ कोरिया के तानाशाह ने वित्त अधिकारियों की कर दी छुट्टी

Published on : Feb 12, 2021, 14:27 PM
By : Agency
news

HIGHLIGHTS

  • तंगहाल नॉर्थ कोरिया को पटरी पर लाने के लिए अधिकारियों ने नहीं दिया कोई नया आइडिया, तानाशाह ने कर दी छुट्टी
  • किम के नौ साल के कार्यकाल में यह सबसे मुश्किल दौर
  • तंगहाली से जुझ रहा नॉर्थ कोरिया, अर्थव्यवस्था हुई बेहाल

सियोल: उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग ने अपने दो अधिकारियों की इसलिए छुट्टी कर दी कि उन्होंने देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए कोई नया आइडिया नहीं दिया था। 

नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने अपनी कैबिनेट के प्रदर्शन पर नाराजगी जाहिर की और एक महीने पहले नियुक्त किए गए एक वरिष्ठ वित्त अधिकारी को सेवा से हटा दिया। किम ने आरोप लगाया कि संकट के दौर से गुजर रही देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए इन अधिकारियों ने कोई नया विचार पेश नहीं किया।

सरकारी मीडिया 'केसीएनए' की शुक्रवार की खबर के अनुसार तानाशाह किम जोंग को उम्मीद थी कि परमाणु कार्यक्रमों को लेकर अमेरिका के प्रतिबंधों को हटाने की उनकी कूटनीति काम आएगी, लेकिन वह रुकी पड़ी है। वहीं कोविड-19 महामारी के कारण सीमाएं बंद होने और प्राकृतिक आपदा में फसल बर्बाद होने की वजह से संकट के दौर से गुजर रही अर्थव्यवस्था और बेहाल हुई है। खबर के अनुसार किम के नौ साल के कार्यकाल में यह सबसे मुश्किल दौर है।

मौजूदा चुनौतियों के कारण किम को सार्वजनिक रूप से पूर्व की आर्थिक योजनाओं की असफलता को स्वीकार करना पड़ा। जनवरी में 'वर्कस पार्टी कांग्रेस की बैठक में पंचवर्षीय आर्थिक योजना पेश की गयी थी लेकिन बृहस्पतिवार को पार्टी की सेंट्रल कमेटी की बैठक में अब तक क्रियान्वित योजनाओं को लेकर किम की निराशा साफ तौर पर झलकी।

INSIDE STORY
image

स्पेशल रिपोर्ट

चीन का वुहान: जहां से शुरू हुआ कोरोना का कहर

पटना >>>>>>> वुहान शहर का नाम भले हीं चीन के बीजिंग या शंघाई जैसे शहरों के तौर पर नहीं लिया जाता है, लेकिन दुनिया के नक्शे पर अपना वजूद रखने वाले इस शहर का नाम कोरोना वायरस को लेक

image

देश

आखिर क्यों जरूरी है लॉकडाउन बढाना?

पटना: कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग का ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन की थी। यह अवधि आगामी 14 अप्रैल को समाप्त हो रहा है। लोगों के मन एक सवाल उठ रहा है कि क्या 15 अप्रै

image

बिहार

बिहार में पूर्ण शराबबंदी ! सिर्फ एक ढकोसला.....

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भले हीं इस बात का डंका बजा रहे हों कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी है। शराब के मामले में कोई समझौता नहीं करेंगे। लेकिन स्थिति बद से बदतर है। शराब माफियाओं का दबदबा पूरे बिहार