Thu, Jun 24, 2021
Updated 5:12 pm IST
Updated 5:12 pm IST

नेपाल की संसद हुई भंग, मध्यावधि चुनाव के लिए नई तारीखों का एलान

Published on : May 22, 2021, 13:21 PM
By : Bureau
news

HIGHLIGHTS

  • देउबा और प्रधानमंत्री ओली दोनों के सरकार बनाने के दावे खारिज
  • नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी ने संसद की भंग
  • मध्यावधि चुनाव के लिए नई तारीखों का हुआ एलान

काठमांडु: नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी ने नेपाली कांग्रेस के अध्यक्ष शेर बहादुर देउबा और प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली दोनों के सरकार बनाने के दावे को खारिज करते हुए संसद भंग कर दी है। साथ हीं देश में मध्यावधि चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है। नेपाल कार्यालय से दी गई जानकारी के मुताबिक 12 और 19 नवंबर को चुनाव होंगे। 

मालूम हो कि के पी शर्मा ओली और विपक्षी दलों दोनों ने ही राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी को सांसदों के हस्ताक्षर वाले पत्र सौंपकर नयी सरकार बनाने का दावा पेश किया था। ओली विपक्षी दलों के नेताओं से कुछ मिनट पहले राष्ट्रपति के कार्यालय पहुंचे थे। 

ओली ने संविधान के अनुच्छेद 76 (5) के अनुसार पुन: प्रधानमंत्री बनने के लिए अपनी पार्टी सीपीएन-यूएमएल के 121 सदस्यों और जनता समाजवादी पार्टी-नेपाल (जेएसपी-एन) के 32 सांसदों के समर्थन के दावे वाला पत्र सौंपा था। वहीं नेपाली कांग्रेस के अध्यक्ष शेर बहादुर देउबा ने 149 सांसदों का समर्थन होने का दावा किया था। देउबा प्रधानमंत्री पद का दावा पेश करने के लिए विपक्षी दलों के नेताओं के साथ राष्ट्रपति के कार्यालय पहुंचे।

ओली ने 153 सदस्यों का समर्थन होने का दावा किया था, वहीं देउबा ने दावा किया कि उनके पाले में 149 सांसद हैं. नेपाल की 275 सदस्यीय प्रतिनिधि सभा में 121 सीटों के साथ सीपीएन-यूएमएल सबसे बड़ा दल है। बहुमत से सरकार बनाने के लिए 138 सीटों की जरूरत होती है। हालांकि दोनो पार्टियों की ओर से अपना-अपना दावा किया गया, लेकिन राष्ट्रपति ने दोनों के दावे को खारिज करते हुए संसद भंग कर दी। 

INSIDE STORY
image

स्पेशल रिपोर्ट

चीन का वुहान: जहां से शुरू हुआ कोरोना का कहर

पटना >>>>>>> वुहान शहर का नाम भले हीं चीन के बीजिंग या शंघाई जैसे शहरों के तौर पर नहीं लिया जाता है, लेकिन दुनिया के नक्शे पर अपना वजूद रखने वाले इस शहर का नाम कोरोना वायरस को लेक

image

देश

आखिर क्यों जरूरी है लॉकडाउन बढाना?

पटना: कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग का ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन की थी। यह अवधि आगामी 14 अप्रैल को समाप्त हो रहा है। लोगों के मन एक सवाल उठ रहा है कि क्या 15 अप्रै

image

बिहार

बिहार में पूर्ण शराबबंदी ! सिर्फ एक ढकोसला.....

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भले हीं इस बात का डंका बजा रहे हों कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी है। शराब के मामले में कोई समझौता नहीं करेंगे। लेकिन स्थिति बद से बदतर है। शराब माफियाओं का दबदबा पूरे बिहार