Thu, Jun 24, 2021
Updated 2:32 pm IST
Updated 2:32 pm IST

MLC टुन्ना पांडेय के बयान पर भड़के जदयू , कहा- नीतीश कुमार पर उंगली उठाई तो काट ली जाएगी

Published on : Jun 3, 2021, 13:54 PM
By : Anirudh kumar
news

HIGHLIGHTS

  • बिहार की सियासत हुई गर्म, बीजेपी जदयू के बीच घमासान
  • बीजेपी एमएलसी टुन्ना पांडेय के बयान पर जदयू का बड़ा पलटवार

पटना: बिहार की सियासत में कुछ दिनों पहले से यह चर्चा चल रही थी कि एनडीए में सब कुछ ठीक नहीं है, उसकी झलक अब दिखने लगी है। बीजेपी के एक एमएलसी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ एक बयान दे दिया, जिसके बाद बिहार की सियासत गरमा गई और जदयू ने भी मोर्चा खोल दिया है। जदयू के प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि नीतीश पर जो उंगली उठाएंगे उसकी उंगली काट दी जाएगी। हालांकि बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष ने नीतीश के खिलाफ बयान देने पर नाराजगी जताई है और बयान देने वालों के शो कॉज नोटिस जारी किया। 

जेडीयू औऱ बीजेपी में ताजा घमासान एमएलसी टुन्नाजी पांडेय के बयान से शुरू हुआ है. बीजेपी के एमएलसी टुन्ना जी पांडेय ने नीतीश कुमार के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए कहा कि जनता ने तो तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री पद के लिए चुना था। लेकिन सरकारी तंत्र का दुरूपयोग करके नीतीश कुमार मुख्यमंत्री बन कर राज कर रहे हैं।

इससे पहले टुन्ना पंड्र्य ने कहा कि मोहम्मद शहाबुद्दीन को सच बोलने की सजा मिली है. उन्होंने भागलपुर जेल से सिवान आने के बाद कहा था कि नीतीश कुमार परिस्थितियों के मुख्यमंत्री हैं. यही सच बोलने की उन्हें सजा मिली. नीतीश कुमार एक बार दूसरी नंबर की पार्टी, तो एक बार तीसरी नंबर की पार्टी होने के बाद मुख्यमंत्री बने। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि वे परिस्थितियों के मुख्यमंत्री हैं, ये बात सच है.''

बीजेपी एमएलसी के बयान के बाद जदयू प्रवक्ता संजय सिंह भड़के उठे, उन्होंने कहा कि सीएम नीतीश कुमार पर कोई उंगली नहीं उठा सकता, यदि कोई उंगली उठाई तो उसे काट डाला जाएगा। उन्होंने बीजेपी पर भी हमला बोलते हुए कहा कि पार्टी उसे समझाए, नीतीश पर आरोप बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। जदयू कभी बीजेपी नेता पर कोई टिप्पणी नहीं करता। 

इससे पहले जेडीयू संसदीय बोर्ड़ के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने भी बिहार भाजपा के अध्यक्ष संजय जायसवाल से सीधा सवाल पूछा है. उपेंद्र कुशवाहा ने लिखा है“यह बयान आप तक भी पहुंच ही रहा होगा, संजय जायसवाल जी. ऐसा बयान अगर किसी जद(यू) के नेता ने भाजपा या उसके किसी नेता के बारे में दिया होता तो......अबतक.........!”

जाहिर है उपेंद्र कुशवाहा ने बगैर कुछ कहे सब कुछ कह दिया है। इशारों में वे कह गये हैं कि बीजेपी नेतृत्व की सहमति से ही ऐसे बयान दिलवाये जा रहे हैं. अगर ऐसी बात जेडीयू के किसी नेता ने कही होती तो उसके खिलफ बीजेपी ने हंगामा खड़ा कर दिया होता।

गौरतलब है कि उपेंद्र कुशवाहा पहले भी बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल से भिड़ चुके हैं. जेडीयू में एंट्री के बाद उन्होंने दो दफे बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष पर निशाना साधा है। बिहार में कोरोना की दूसरी लहर शुरू होने के बाद जब संजय जायसवाल ने नाइट कर्फ्यू पर सवाल खड़े करते हुए लॉकडाउन की मांग की थी तो उपेंद्र कुशवाहा ने उन्हें राजनीति नहीं करने की नसीहत दी थी। इसके बाद जब बिहार में लॉकडाउन का एलान किया गया तो संजय जायसवाल ने उपेंद्र कुशवाहा को जवाब दिया था।

वैसे भी सियासी गलियारे में ये चर्चा गर्म है कि बीजेपी औऱ जेडीयू के बीच रिश्ते लगातार खराब होते जा रहे हैं। आलम ये है कि नीतीश कुमार बीजेपी के किसी सीनियर नेता से बात ही नहीं कर रहे हैं। जबकि बिहार बीजेपी के सारे फैसले दिल्ली से ही लिये जा रहे हैं। वहीं नीतीश कुमार सरकारी बैठकों में बिहार में बीजेपी के दोनों डिप्टी सीएम औऱ दूसरे मंत्रियों से औपचारिक बात जरूर कर रहे हैं लेकिन इसके अलावा औऱ कोई बात नहीं हो रही है।

निश्चित तौर पर इस तरह के आरोप-प्रत्यारोप बिहार की वर्तमान सरकार के हित में नहीं है। एनडीए के घटक दल हम और वीआईपी ने भी कई बार नीतीश सरकार के फैसले का विरोध की है। जिससे यह जाहिर होता है कि बिहार एनडीए में सब ठीक नहीं है। 

INSIDE STORY
image

स्पेशल रिपोर्ट

चीन का वुहान: जहां से शुरू हुआ कोरोना का कहर

पटना >>>>>>> वुहान शहर का नाम भले हीं चीन के बीजिंग या शंघाई जैसे शहरों के तौर पर नहीं लिया जाता है, लेकिन दुनिया के नक्शे पर अपना वजूद रखने वाले इस शहर का नाम कोरोना वायरस को लेक

image

देश

आखिर क्यों जरूरी है लॉकडाउन बढाना?

पटना: कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग का ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन की थी। यह अवधि आगामी 14 अप्रैल को समाप्त हो रहा है। लोगों के मन एक सवाल उठ रहा है कि क्या 15 अप्रै

image

बिहार

बिहार में पूर्ण शराबबंदी ! सिर्फ एक ढकोसला.....

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भले हीं इस बात का डंका बजा रहे हों कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी है। शराब के मामले में कोई समझौता नहीं करेंगे। लेकिन स्थिति बद से बदतर है। शराब माफियाओं का दबदबा पूरे बिहार