Thu, Jun 24, 2021
Updated 2:32 pm IST
Updated 2:32 pm IST

जमानत याचिका खारिज होते हीं दानापुर न्यायालय से सात आरोपी फरार

Published on : Jun 9, 2021, 03:18 AM
By : Anirudh kumar
news

HIGHLIGHTS

  • सिंगौड़ी थाना कांड संख्या 72/21 के थे आरोपी
  • कोर्ट के लिपिक ने दानापुर थाने में दर्ज कराया मामला
  • सभी अभियुक्तों पर मारपीट और फायरिंग का है आरोप

पटना: मंगलवार को दानापुर व्यवहार न्यायालय में उस समय अफरा-तफरी मच गई, जब जमानत याचिका खारिज होने के बाद 7 आरोपी फरार हो गए। खबर मिलते हीं पटना पुलिस के हाथ पांव फूलने लगे। 

हुआ यूं कि ऑनलाइन सरेंडर के बाद पेशी के लिए मंगलवार को दानापुर व्यवहार न्यायालय के एसीजेएम तृतीय के यहां सिंगौड़ी थाना कांड संख्या 72/21 के नौ अभियुक्त पहुंचे थे। जमानत याचिका पर बहस हुई। लेकिन कोर्ट ने सभी की जमानत याचिका खारिज कर दी। उसे जेल भेजने की तैयारी की हीं जा रही थी कि इसी बीच सात अभियुक्त फरार हो गए। हालांकि दो अभियुक्त वृद्व होने के कारण भाग नहीं सके। सभी अभियुक्तों पर बिजली को लेकर मारपीट व फायरिंग करने का आरोप है। 

न्यायालय से सात आरोपितों के भागने की खबर फैलते ही पुलिस महकमे में खलबली मच गई। फरार आरोपितों में नरौली मढ़िया निवासी सोनू यादव, लल्लू यादव, सिद्धनाथ यादव, उपेन्द्र यादव सभी पिता जट्टा यादव और चंदन कुमार, मुकुल कुमार, राज कुमार सभी पिता सिद्धनाथ यादव शामिल हैं। इस संदर्भ में एसीजेएम तृतीय की पीठ कार्यालय लिपिक सह पीठ लिपिक अरविंद कुमार ने दानापुर थाने में सभी फरार आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कराया है।

INSIDE STORY
image

स्पेशल रिपोर्ट

चीन का वुहान: जहां से शुरू हुआ कोरोना का कहर

पटना >>>>>>> वुहान शहर का नाम भले हीं चीन के बीजिंग या शंघाई जैसे शहरों के तौर पर नहीं लिया जाता है, लेकिन दुनिया के नक्शे पर अपना वजूद रखने वाले इस शहर का नाम कोरोना वायरस को लेक

image

देश

आखिर क्यों जरूरी है लॉकडाउन बढाना?

पटना: कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग का ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन की थी। यह अवधि आगामी 14 अप्रैल को समाप्त हो रहा है। लोगों के मन एक सवाल उठ रहा है कि क्या 15 अप्रै

image

बिहार

बिहार में पूर्ण शराबबंदी ! सिर्फ एक ढकोसला.....

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भले हीं इस बात का डंका बजा रहे हों कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी है। शराब के मामले में कोई समझौता नहीं करेंगे। लेकिन स्थिति बद से बदतर है। शराब माफियाओं का दबदबा पूरे बिहार