Wed, Oct 20, 2021
Updated 2:26 pm IST
Updated 2:26 pm IST

ओलंपिक एथलेटिक्स में भारत को मिला पहला गोल्ड, नीरज चोपड़ा ने रचा इतिहास

Published on : Aug 7, 2021, 17:50 PM
By : Bureau
news

HIGHLIGHTS

  • ओलंपिक एथलेटिक्स में पहली बार मिला मेडल
  • 100 से अधिक वर्षों का सूखा हुआ समाप्त

नई दिल्ली : टोक्यो ओलंपिक के 16वें दिन भारत ने पहला गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया है।  नीरज चोपड़ा ने भाला फेंक में गोल्ड मेडल जीतकर भारतीय खेलों में नया इतिहास रच दिया हैं।  नीरज ने अपने दूसरे प्रयास में 87.58 मीटर भाला फेंका जो जीत के लिए पर्याप्त था। इस तरह से नीरज ने ओलंपिक एथलेटिक्स में भारत को पहला मेडल दिलवाया हैं।  

दरअसल, नीरज ने पहले प्रयास  में 87.03 मीटर और दूसरे प्रयास में 87.58 मीटर दूर भाला फेंका।  तीसरे प्रयास  में उन्होंने 76.79 मीटर, चौथे और 5वें में फाउल और छठे प्रयास में 80 मीटर से ज्यादा थ्रो किया। 

121 साल बाद मिला पहला मेडल 

नीरज चोपड़ा ने भाला फेंक में गोल्ड मेडल जीतकर 121 सालों के सूखा को समाप्त कर दिया है।  इससे पहले भारत ओलंपिक एथलेटिक्स में कोई भी मेडल नहीं जीत पाया था। वहीं, ओलंपिक की व्यक्तिगत स्पर्धा में भारत को 13 साल बाद दूसरा गोल्ड मिला. बीजिंग ओलंपिक 2008 में पहली बार स्वर्ण पदक जीतने का कारनामा दिग्गज शूटर अभिनव बिंद्रा ने किया था।  

अब तक भारत के 7 मेडल 

टोक्यो ओलंपिक में भारत अब 1 गोल्ड 2 सिल्वर और 4 कांस्य सहित कुल 6 मेडल जीत चुका है।  नीरज चोपड़ा के अलावा भारत की ओर से मीराबाई चानू (वेट लिफ्टिंग) और रवि दहिया (कुश्ती) ने सिल्वर मेडल जीता है।  वहीं पीवी सिंधु, बजरंग पूनिया, लवलीना और भारतीय हॉकी टीम ने भारत के लिए ब्रॉन्ज जीता हैं।  

गौरतलब हो कि नीरज चोपड़ा से पूरे देश को आज गोल्ड मेडल की उम्मीद थी और वो सबकी उम्मीदों पर खड़े भी उतरे।  ऐसा इसलिए है क्योंकि उन्होंने क्वालिफिकेशन राउंड में 86.65 की दूरी तय करते हुए पहला नंबर हासिल किया था।  नीरज भारत को टोक्यो में पहला गोल्ड मेडल जितवाने के सबसे बड़े दावेदार थे। 

INSIDE STORY
image

स्पेशल रिपोर्ट

चीन का वुहान: जहां से शुरू हुआ कोरोना का कहर

पटना >>>>>>> वुहान शहर का नाम भले हीं चीन के बीजिंग या शंघाई जैसे शहरों के तौर पर नहीं लिया जाता है, लेकिन दुनिया के नक्शे पर अपना वजूद रखने वाले इस शहर का नाम कोरोना वायरस को लेक

image

देश

आखिर क्यों जरूरी है लॉकडाउन बढाना?

पटना: कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग का ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन की थी। यह अवधि आगामी 14 अप्रैल को समाप्त हो रहा है। लोगों के मन एक सवाल उठ रहा है कि क्या 15 अप्रै

image

बिहार

बिहार में पूर्ण शराबबंदी ! सिर्फ एक ढकोसला.....

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भले हीं इस बात का डंका बजा रहे हों कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी है। शराब के मामले में कोई समझौता नहीं करेंगे। लेकिन स्थिति बद से बदतर है। शराब माफियाओं का दबदबा पूरे बिहार