Wed, Oct 20, 2021
Updated 2:26 pm IST
Updated 2:26 pm IST

फुटबॉलर बनना चाहते थे मनीष नरवाल, दिव्यांगता की चुनौतियों से लड़कर बने 'गोल्डन' शूटर

Published on : Sep 4, 2021, 12:37 PM
By : Bureau
news

HIGHLIGHTS

  • हरियाणा के कथूरा गांव के रहने वाले हैं मनीष
  • बचपन में फुटबॉलर बनना चाहते थें
  • एक हाथ जन्म से ही खराब होने के बावजूद बने शूटर्स

नई दिल्ली: टोक्यो पैरालंपिक 2020 के निशानेबाजी इवेंट में भारतीय पैराशूटर्स का जबर्दस्त प्रदर्शन शनिवार को भी जारी रहा है. आज भारत के मनीष नरवाल ने देश की झोली में एक और गोल्ड मेडल डाल दिया है. महज 19 साल के मनीष नरवाल P4 मिक्स्ड 50 मीटर एयर पिस्टल SH-1 इवेंट में 218.2 के स्कोर के साथ गोल्ड पर निशाना साध ये इतिहास रचा है. इसी इवेंट में भारत के ही सिंघराज ने ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया है. 

17 अक्टूबर, 2001 में जन्में मनीष हरियाणा के कथूरा गांव के रहने वाले हैं. उनका एक हाथ जन्म से ही खराब है. वह बचपन में फुटबॉलर बनना चाहते थें. हालांकि हाथ खराब होने के चलते उनके लिए इस खेल में काफी चुनौतियां थीं. मनीष के पिता दिलबाग सिंह परिवार संग काफी साल पहले फरीदाबाद में आकर रहने लगे थे. साथ ही वो भी एक पहलवान भी रह चुके हैं. पिता के दोस्तों ने मनीष को शूटिंग में करियर बनाने की राय दी. जिसके बाद उन्होंने साल 2016 में फरीदाबाद में ही शूटिंग की शुरुआत की. 

मनीष ने निशानेबाजी के खेल में शानदार शुरुआत की और कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में मेडल जीत देश का नाम रोशन किया. उन्होंने 2018 में जकार्ता एशियाई खेलों के 10 मी और 50 मीटर एयर पिस्टल इवेंट में एक गोल्ड और एक ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम कर इतिहास रच दिया था. इसके बाद साल 2019 में सिडनी में आयोजित वर्ल्ड शूटिंग पैरा स्पोर्ट्स चैंपियनशिप में मनीष ने P1 और P4 (व्यक्तिगत और टीम) में तीन ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किए थे. 

अल ऐन, यूएई में आयोजित वर्ल्ड शूटिंग पैरा स्पोर्ट्स चैंपियनशिप 2021 में मनीष ने P4 मिक्स्ड 50 मीटर एयर पिस्टल SH1 इवेंट में नया विश्व रिकॉर्ड बनाते हुए गोल्ड मेडल पर निशाना साधा था. साल 2020 में उन्हें अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया.

मनीष नरवाल के गोल्ड जीतने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें बधाई दी है. पीएम ने ट्वीट करते हुए कहा, टोक्यो पैरालंपिक में गौरवपूर्ण प्रदर्शन जारी है. युवा और बेहद प्रतिभावान मनीष नरवाल की शानदार उपलब्धि. उनका स्वर्ण पदक जीतना भारतीय खेलों के लिए एक ऐतिहासिक क्षण है. उन्हें बधाई और आगे आने वाले समय के लिए शुभकामनाएं. 

INSIDE STORY
image

स्पेशल रिपोर्ट

चीन का वुहान: जहां से शुरू हुआ कोरोना का कहर

पटना >>>>>>> वुहान शहर का नाम भले हीं चीन के बीजिंग या शंघाई जैसे शहरों के तौर पर नहीं लिया जाता है, लेकिन दुनिया के नक्शे पर अपना वजूद रखने वाले इस शहर का नाम कोरोना वायरस को लेक

image

देश

आखिर क्यों जरूरी है लॉकडाउन बढाना?

पटना: कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग का ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन की थी। यह अवधि आगामी 14 अप्रैल को समाप्त हो रहा है। लोगों के मन एक सवाल उठ रहा है कि क्या 15 अप्रै

image

बिहार

बिहार में पूर्ण शराबबंदी ! सिर्फ एक ढकोसला.....

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भले हीं इस बात का डंका बजा रहे हों कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी है। शराब के मामले में कोई समझौता नहीं करेंगे। लेकिन स्थिति बद से बदतर है। शराब माफियाओं का दबदबा पूरे बिहार