Wed, Oct 20, 2021
Updated 2:26 pm IST
Updated 2:26 pm IST

लखीमपुर कांड: एक स्थानीय पत्रकार की भी हुई मौत

Published on : Oct 4, 2021, 16:48 PM
By : Bureau
news

HIGHLIGHTS

  • पत्रकार रमन कश्यप घटना की कवरेज के दौरान झड़प में घायल हो गए थे
  • उत्तर प्रदेश सरकार ने झड़प के शिकार हुए सभी मृतकों को 45-45 लाख देने का ऐलान किया है

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खेरी में हुए विवाद में बीजेपी कार्यकर्ताओं और किसानों के साथ-साथ एक स्थानीय पत्रकार रमन कश्यप की भी जान चली गई है। पत्रकार रमन कश्यप घटना की कवरेज के दौरान झड़प में घायल हो गए थे और उन्होंने बाद में दम तोड़ दिया।

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खेरी में किसान आंदोलन ने एक बार फिर हिंसक रूप ले लिया है। क्षेत्र में चलने वाला कथित किसान आंदोलन रविवार शाम होते-होते हिंसक हो गया।

किसानों द्वारा यह आरोप लगाया जा रहा है कि केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा और उसके समर्थकों ने किसान आंदोलनकारियों पर गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया। वहीं, दूसरा पक्ष यह कह रहा है कि किसानों ने उन्हें काले झंडे दिखाए और गाड़ियों पर हमले का प्रयास किया, जिसके कारण गाड़ी पलट गई और हादसे में कथित किसानों की दबने से मौत हो गई। इसके बाद उनके ड्राइवर समेत अन्य चार लोगों की पीट-पीटकर कथित किसानों द्वारा हत्या कर दी गई।

कवरेज के लिए गए पत्रकार की मौत 

इस पूरे विवाद और आगजनी के बीच पास के ही स्थानीय पत्रकार रमन कश्यप मामले की कवरेज के लिए मौके पर पहुँचे तो वे भी इस खूनी हिंसा के शिकार बन गए। विवाद में रमन बुरी तरह घायल हो गए और बाद में शाम को उनका शव बरामद हुआ। पत्रकार के परिजनों ने पोस्टमार्टम हाउस में उनके शव को पहचान कर उनकी मौत की पुष्टि भी की।

सरकार ने किया मुआवज़े का ऐलान 

इस पूरे मामले को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार भी काफी सख्त है और योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में लोगों से कानून व्यवस्था बनाए रखने और संयम से काम लेने को लेकर ट्वीट किया है। योगी ने लोगों से किसी भी प्रकार के बहकावे में न आने और जाँच एवं कार्रवाई की प्रतीक्षा करने का आग्रह किया है। उत्तर प्रदेश सरकार ने झड़प के शिकार हुए सभी मृतकों को 45-45 लाख और सभी घायलों को 10-10 लाख रुपए मुआवज़े रूप में देने का ऐलान किया है। सरकार ने यह भी कहा है कि वो जो लोग विवाद में मारे गए हैं उनके परिवार के किसी एक व्यक्ति को योग्यता अनुसार नौकरी भी प्रदान की जाएगी।

INSIDE STORY
image

स्पेशल रिपोर्ट

चीन का वुहान: जहां से शुरू हुआ कोरोना का कहर

पटना >>>>>>> वुहान शहर का नाम भले हीं चीन के बीजिंग या शंघाई जैसे शहरों के तौर पर नहीं लिया जाता है, लेकिन दुनिया के नक्शे पर अपना वजूद रखने वाले इस शहर का नाम कोरोना वायरस को लेक

image

देश

आखिर क्यों जरूरी है लॉकडाउन बढाना?

पटना: कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग का ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन की थी। यह अवधि आगामी 14 अप्रैल को समाप्त हो रहा है। लोगों के मन एक सवाल उठ रहा है कि क्या 15 अप्रै

image

बिहार

बिहार में पूर्ण शराबबंदी ! सिर्फ एक ढकोसला.....

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भले हीं इस बात का डंका बजा रहे हों कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी है। शराब के मामले में कोई समझौता नहीं करेंगे। लेकिन स्थिति बद से बदतर है। शराब माफियाओं का दबदबा पूरे बिहार