Wed, Oct 20, 2021
Updated 2:26 pm IST
Updated 2:26 pm IST

देश में कोयला संकट: पीएमओ की उच्चस्तरीय बैठक, हालात की होगी समीक्षा

Published on : Oct 12, 2021, 15:38 PM
By : Bureau
news

HIGHLIGHTS

  • देश में कोयला के स्टॉक के खत्म होने से पावर प्लांटों पर संकट गहरा रहा है
  • मंगलवार को प्रधानमंत्री कार्यालय में इस संकट पर उच्च स्तरीय बैठक होने जा रही है

नई दिल्ली: देश में कोयला के स्टॉक के खत्म होने से पावर प्लांटों पर संकट गहरा रहा है। इससे देश में बिजली संकट भी खड़ा हो गया है। कई राज्यों ने रिपोर्ट किया है कि उनके पास कोयला का स्टॉक मात्र कुछ दिनों का बचा हुआ है। यहां तक की दर्जन भर से अधिक पावर प्लांट बंद हो गए हैं। हालांकि, केंद्र का कहना है कि ऐसा कोई संकट नहीं है।

कोयला संकट पर होगी उच्चस्तरीय बैठक 

अब संकट की गंभीरता को देखते हुए केंद्र सरकार हरकत में आ गई है। पहले सोमवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने ऊर्जा मंत्री आरके सिंह और कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी के साथ बिजली संकट पर एक घंटे तक  बैठक की। वहीं, मंगलवार को प्रधानमंत्री कार्यालय में इस संकट पर उच्च स्तरीय बैठक होने जा रही है। इस बैठक में केंद्रीय ऊर्जा मंत्रालय और कोयला सचिव मौजूदा हालात से जुड़ी विस्तृत जानकारी पीएम मोदी के प्रधान सचिव को सौंपेंगे। गौरतलब है कि ऊर्जामंत्री ने देश को आश्वस्त किया था कि पावर प्लांटों की मांग के अनुरूप पर्याप्त कोयला उपलब्ध है और इसमें कोई कमी नहीं आने दी जाएगी।

दरअसल, कोल सेक्टर से जुड़े जानकारों के मुताबिक सरकार की कुछ गलतियां और अचानक मांग बढ़ने से ये संकट गहराया है। कोविड-19 महामारी के दौरान अचानक से अधिकांश फैक्ट्रियां बंद हो गई थी। जिसकी वजह से कोयला की डिमांड मार्केट में घट गई। लेकिन, अचानक लॉकडाउन के हटते और फैक्ट्रियों के फिर से खुलने की वजह से डिमांड मार्केट में कोयला की अचानक बढ़ गई। वहीं, केंद्र ने मौसम को ध्यान में रखते हुए कोयला का स्टॉक नहीं किया। जिसकी वजह से इन सारी दिक्कतों का सामना इस वक्त देश कर रहा है।

INSIDE STORY
image

स्पेशल रिपोर्ट

चीन का वुहान: जहां से शुरू हुआ कोरोना का कहर

पटना >>>>>>> वुहान शहर का नाम भले हीं चीन के बीजिंग या शंघाई जैसे शहरों के तौर पर नहीं लिया जाता है, लेकिन दुनिया के नक्शे पर अपना वजूद रखने वाले इस शहर का नाम कोरोना वायरस को लेक

image

देश

आखिर क्यों जरूरी है लॉकडाउन बढाना?

पटना: कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग का ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन की थी। यह अवधि आगामी 14 अप्रैल को समाप्त हो रहा है। लोगों के मन एक सवाल उठ रहा है कि क्या 15 अप्रै

image

बिहार

बिहार में पूर्ण शराबबंदी ! सिर्फ एक ढकोसला.....

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भले हीं इस बात का डंका बजा रहे हों कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी है। शराब के मामले में कोई समझौता नहीं करेंगे। लेकिन स्थिति बद से बदतर है। शराब माफियाओं का दबदबा पूरे बिहार