Tue, Aug 3, 2021
Updated 1:53 pm IST
Updated 1:53 pm IST

सिखों के अंतिम गुरू गोविंद सिंह का आज 354वां प्रकाशपर्व

Published on : Jan 20, 2021, 13:09 PM
By : Beuro
news

HIGHLIGHTS

  • गुरू गोविंद सिंह का जन्म पटना साहिब गुरूद्वारे में हुआ था
  • वे इस स्थान पर छ्ह वर्ष की उम्र तक रहे
  • यहां मांगी गई हर मुराद पूरी होती है
  • गुरु गोविंद सिंह एक महान योद्धा, कवि, भक्त और धर्म गुरू थे

आज गुरु गोविंद सिंह की 354वीं जयंती है. वे सिखों के 10वें और अंतिम गुरू थे. इस दिन को प्रकाश पर्व के रूप में मनाया जाता है. बिहार के पटना साहिब गुरूद्वारे में 26 दिसम्बर 1666 को उनका जन्म हुआ था. उनके बचपन का नाम गोबिंद राय था. बाल गोबिंद राय जी इस स्थान पर छ्ह वर्ष की उम्र तक रहे. ऐसी मान्‍यता है कि यहां मांगी गई हर मुराद पूरी होती है. गुरु गोविंद सिंह एक महान योद्धा, कवि, भक्त और धर्म गुरू थे. उन्होंने हमेशा प्रेम, एकता और भाईचारे का संदेश दिया. उनके पिता गुरु तेग बहादुर की मृत्यु के बाद उन्हें दसवां गुरू घोषित किया गया. गुरू गोविंद सिंह ने साल 1699 में बैसाखी के दिन खालसा पंथ की स्थापना की थी. आज के दिन गुरूद्वारों में शबद कीर्तन और गुरबानी का पाठ किया जाता है. उनका मानना था कि मनुष्य को किसी को डराना भी नहीं चाहिए और न किसी से डरना चाहिए. उन्होंने अपना पूरा जीवन लोगों की सेवा और सच्चाई के लिए समर्पित कर दी. पटना साहिब गुरूद्वारे में प्रकाशोत्सव को लेकर खास तैयारी की गई है. यहां दूर-दूर से श्रद्धालु आते हैं. हालांकि, इस बार कोरोना को लेकर लोग सावधानी बरत रहे हैं. मगर उनके आस्था और उल्लास में कोई कमी नहीं है. प्रकाश पर्व समारोह में सुरक्षा व्यवस्था के खास इंतजामात किये गए हैं. इसके लिए 350 मजिस्ट्रेट और 350 पुलिस अधिकारी के साथ ही 1500 पुलिस बल की तैनाती की गई है. 

 

INSIDE STORY
image

स्पेशल रिपोर्ट

चीन का वुहान: जहां से शुरू हुआ कोरोना का कहर

पटना >>>>>>> वुहान शहर का नाम भले हीं चीन के बीजिंग या शंघाई जैसे शहरों के तौर पर नहीं लिया जाता है, लेकिन दुनिया के नक्शे पर अपना वजूद रखने वाले इस शहर का नाम कोरोना वायरस को लेक

image

देश

आखिर क्यों जरूरी है लॉकडाउन बढाना?

पटना: कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग का ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन की थी। यह अवधि आगामी 14 अप्रैल को समाप्त हो रहा है। लोगों के मन एक सवाल उठ रहा है कि क्या 15 अप्रै

image

बिहार

बिहार में पूर्ण शराबबंदी ! सिर्फ एक ढकोसला.....

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भले हीं इस बात का डंका बजा रहे हों कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी है। शराब के मामले में कोई समझौता नहीं करेंगे। लेकिन स्थिति बद से बदतर है। शराब माफियाओं का दबदबा पूरे बिहार